Drama

Tumhe Mohabbat Hai (Ek Musafir Ek Hasina)

By  | 

Movie: Ek Musafir Ek Hasina
Release: 1962
Featuring Actors: Joy Mukherjee, Sadhana
Music Director: Omkar Prasad Nayyar
Lyrics: Shewan Rizvi
Singer: Asha Bhosle, Mohammed Rafi
Trivia:

Lyrics in Hindi

तुम्हे मोहब्बत है हमसे
मन बताओ इस का सबूत क्या है
तुम्हे मोहब्बत है हमसे
मन बताओ इस का सबूत क्या है
ये हाथ सिने पे रख के देखो
न पूछो इस का सबूत क्या है
तुम्हे मोहब्बत है हमसे मन

ये दिल की धड़कन ये सार्ड आहे
यही शिकायत है हर किसी को
नै बला को जब भी देखा
तो प्यार करने लगे उसी से
नै भला इसमे बात क्या है की
ये फ़साना बहुत सूना है
ये हाथ सिने पे तुम्हे
मोहब्बत है हमसे मन

जो आग सीने में है हमारे
तुम्हारे होती तो जान लेते
जो आग सीने में है हमारे
तुम्हारे होती तो जान लेते
बगैर कोई सबूत मांगे
हमारी चाहत को मान लेते
तुम्हारी आँखों में काश होता
हमारी आँखों में जो नशा है
ये हाथ सिने पे तुम्हे
मोहब्बत है हमसे मन

यही नशा जो रहे हमेशा तो
हम भी चाहत का जाम पी ले
यही नशा जो रहे हमेशा तो
हम भी चाहत का जाम पी ले
ये दौर-इ-सागर यूँ ही चलेगा
तो ले के साक़ी का नाम पि ले
मगर ये हम पर करम की नज़ारे
बदल न जाएंगी क्या पता है
ये हाथ सिने पे तुम्हे
मोहब्बत है हमसे मन

हमें तो साक़ी से वास्ता है
सुराही बदले या जाम बदले
हमें तो साक़ी से वास्ता है
सुराही बदले या जाम बदले
तेरे दीवाने कभी न बदलेंगे
चाहे सारा निजाम बदले
तेरे ही क़दमों में जान देंगे
ये दिल तुझे जब दे दिया है
तुम्हे मोहब्बत है हमसे मन.


Lyrics in English

Tumhe mohabbat hai hamase
Mana bataao is ka sabut kya hai
Tumhe mohabbat hai hamase
Mana bataao is ka sabut kya hai
Ye haath sine pe rakh ke dekho
Na puchho is ka sabut kya hai
Tumhe mohabbat hai hamase mana

Ye dil ki dhadakan ye sard aahe
Yahi shiqaayat hai har kisi ko
Nai balaa ko jab bhi dekhaa
To pyaar karane lage usi se
Nai bhalaa isame baat kya hai ki
Ye fasaanaa bahut sunaa hai
Ye haath sine pe tumhe
Mohabbat hai hamase mana

Jo aag sine me hai hamaare
Tumhaare hoti to jaan lete
Jo aag sine me hai hamaare
Tumhaare hoti to jaan lete
Bagair koi sabut maange
Hamaari chaahat ko maan lete
Tumhaari aankho me kaash hota
Hamaari aankho me jo nasha hai
Ye haath sine pe tumhe
Mohabbat hai hamase mana

Yahi nasha jo rahe hameshaa to
Ham bhi chaahat kaa jaam pi le
Yahi nasha jo rahe hameshaa to
Ham bhi chaahat kaa jaam pi le
Ye daur-e-saagar yun hi chalegaa
To le ke saaqi kaa naam pi le
Magar ye ham par qaram ki nazare
Badal na jaaengi kya pataa hai
Ye haath sine pe tumhe
Mohabbat hai hamase mana

Hame to saaqi se vaastaa hai
Suraahi badale yaa jaam badale
Hame to saaqi se vaastaa hai
Suraahi badale yaa jaam badale
Tere divaane kabhi na badalege
Chaahe sara nijaam badale
Tere hi qadamo me jaan dege
Ye dil tujhe jab de diyaa hai
Tumhe mohabbat hai hamase mana.

Leave a Reply