Drama

Ummeed Ab Kahi Koi Dar Kholti Nahi (Firaaq)

By  | 

Movie: Firaaq
Release: 2008
Featuring Actors: Naseeruddin Shah, Deepti Naval, Shahana Goswami
Music Director: Piyush Kanojia, Rajat Dholakia
Lyrics: Gulzar
Singer: Rekha Bhardwaj
Trivia:

Lyrics in Hindi

उम्मीद कही कोई दर खोलती नहीं
उम्मीद कही कोई दर खोलती नहीं
जलाने के बाद शाम्मार बोलती नहीं
उम्मीद कही कोई दर खोलती नहीं

जो साँस ले रही हैं, हर तरफ वो मौत हैं
जो साँस ले रही हैं, हर तरफ वो मौत हैं
जो चल रही हैं सीने मैं वो जिंदगी नहीं
जो चल रही हैं सीने मैं वो जिंदगी नहीं
हर एक चीज जल रही हैं, शहर मैं मगर
हर एक चीज जल रही हैं, शहर मैं मगर
अंधेरा बढ़ रहा हैं, कही रोशनी नहीं
अंधेरा बढ़ रहा हैं, कही रोशनी नहीं
जलाने के बाद शाम्मार बोलती नहीं
उम्मीद कही कोई दर खोलती नहीं
उम्मीद कही कोई दर खोलती नहीं.


Lyrics in English

Ummeed kahi koyi dar kholati nahi
Ummeed kahi koyi dar kholati nahi
Jalane ke baad shammaar bolati nahi
Ummeed kahi koyi dar kholati nahi

Jo saans le rahi hai, har taraf woh maut hai
Jo saans le rahi hai, har taraf woh maut hai
Jo chal rahi hai sine mein woh jindagi nahi
Jo chal rahi hai sine mein woh jindagi nahi

Har ek cheej jal rahi hai, shehar mein magar
Har ek cheej jal rahi hai, shehar mein magar
Andhera badh raha hai, kahi roshani nahi
Andhera badh raha hai, kahi roshani nahi
Jalane ke baad shammaar bolati nahi
Ummeed kahi koyi dar kholati nahi
Ummeed kahi koyi dar kholati nahi.

Leave a Reply